UPBIL/2018/70352

दुनिया और अमेरिकी अब अल-बगदादी के आतंकी चंगुल से मुक्त



इस्लामिक स्टेट के खिलाफ जारी अभियान में आतंकवाद के खिलाफ छः हजार मिल दूर अमेरिकी सेना के जवानो ने आतंक के बादशाह अलबगदादी को मार गिराया।
रविवार की शाम अंधेरे में हजारों मिल दूर के लिए, विभिन्न देशो के अधिकृत हवाईक्षेत्र से गुजरती है, इराक के एक स्थान से आठ हेलीकाफ्टर अमेरिकी सेना को लेकर उड़ान भरी।
उनका निशाना था अबुबकर अल-बगदादी, इस्लामिक स्टेट की स्थापना करने वाला कुख्यात नेता, जो अपने आतंकी सहयोगियों और परिवार के साथ नार्थ-वेस्ट सीरिया के एक गांव में छुपा हुआ था और अमेरिकी उसे कई दिनों से ढूंढ रहे थे।
इसके छुपे होने की सूचना ऐसे लड़ाको द्वारा दी गई जो इस्लामिक स्टेट से प्रभावित नहीं थे जिन्होंने इस अभियान को गति दी एवं सशर्त बतचीत किया कि उनके नाम का खुलासा  किया जाए।
बन्द मार्ग वाली सुरंग में आगे बढती हुई अमेरिकी सेना से बचने के लिए बगदादी ने कमर में बंधे हुए विस्फोटक को उड़ा दिया जिससे उसकी और उसके तीन बच्चों की मृत्यु हो गई.  
आई़़एस आईएस सदस्यों से अप्रभावित लड़ाको ने कुर्दिष लड़ाकुओं को इससे संबंधित सूचना दी थी जो अमेरिकी सेना के साथ लड़ रहे थे। उन्हीं लोगों ने अलबगदादी के छुपे होने की यह महत्वपूर्ण सूचना अमेरिका को दी थी।
अधिकारियों के अनुसार मुखबर गर्मी के दिनों में सामने आया और अमेरिकी अधिकारी इस सूचना की सत्यता की जांच मे जुट गये। पिछले दो सप्ताह में यह साफ हो गया था कि दी गई सूचना बगदादी के छुपे होने के स्थान में सही थी
यह छोटी छोटी जानकारी को एकत्र क्रमचय करके प्राप्त हुई सामग्री थी जो बहुत सहायक सिद्ध हुई। अमेरिका के राष्ट्रपति  डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि 5 बजे शाम यह हमला शुरू किया गया और वह सारे अभियान को पूरी तरह से एक मूवी की तरह वाशिगटन में बैठे देख रहे थे।
मध्यरात्रि के बाद मध्यपूर्व में उड़ने के लिए हेलीकाफ्टर को इराक तुर्की और रूस के हवाईक्षेत्र से गुजरना था और इस बात की जानकारीबिनाअभियान की सूचना आदानप्रदान किये, इन तीनों देशो को दे दी थी।
रूस को सीरिया में, पेंटागन ने "deconfliction" किसी दुर्घटना के मद्देनजर पहले ही घोषित कर दिया था।
अमेरीकी सेना बगदादी के ठिकाने पर पहुँचते ही उसने बगदादी को आत्मसर्मपण के लिये कहा लेकिन दो जोड़े बड़े एवं 11 बच्चे बाहर गये।
बगदादी अंदर रहा जैसा कि यू एस अधिकारियों ने माना था कि वह करेगा। अमेरिकी सेना ने जवाब में दिवार के किनारे प्रवेश हेतु एक बड़ा होल विस्फोटक से पंचर कर दिया ताकि दरवाजे पर खड़े लोगों  का सामना करना पड़े। हमले में 5 लड़ाके मारे गये और बाकी बाहर ही मार दिये गये थे।
दो पत्नियों के शव शेष वहीं रह गये, राष्ट्रपति ट्रंप के अनुसार इन दोनों ने अपनी कमर में बंधे विस्फोटक को नहीं उड़ाया जो उनकी कमर पर अभी भी था जिस कारण उन औरतों के शवों को ठिकाने लगाना अमेरिकी सेना के लिए खतरनाक था।
अल्लेपों के पष्चिम के गाँव में कितने समय तक बगदादी रूकता यह स्पष्ट नहीं था। बगदादी के वर्तमान रूकने के ठिकाने का पता अभी इसी सप्ताह में पता चला था।


Share this

Related Posts

Latest
Previous
Next Post »