UPBIL/2018/70352

लखनऊ सीएमएस में 'मदर्स डे' का आयोजन किया गया


लखनऊ, 24 फरवरी। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर ऑडिटोरियम में आयोजित विश्व एकता सत्संग में बोलते हुए डा. भारती गाँधी ने कहा कि पारिवारिक एकता से ही विश्व एकता की राहें खुलेंगी, इसलिए बच्चों को प्रारम्भ से ही शान्ति, एकता, प्रेम व सदाचारों की शिक्षा देना आवश्यक है।
सी.एम.एस. के छात्रों को जय जगत तथा वसुधैव कुटम्बकम के माध्यम से विश्व नागरिक बनने की शिक्षा दी जाती है। परिवार में माता-पिता, भाई-बहन इत्यादि में एकता व अपने का भाव होना आवश्यक है। डा. गाँधी ने आगे कहा कि आज विश्व का सर्वाधिक धन लड़ाइयों पर खर्च हो रहा है। ऐसे में यदि विश्व में एकता व शान्ति का वातावरण बनेगा तो लड़ाइयों पर खर्च होने वाला धन रोटी, कपड़ा, मकान, शिक्षा व चिकित्सा पर खर्च होगा, जिससे दुनिया में खुशहाली आयेगी। शिक्षा का उद्देश्य ही देश-दुनिया में लड़ाइयों का अन्त कर सुख, शान्ति, एकता तथा प्रेम का वातावरण तैयार करना है।
उन्हांने कहा कि वसुधैव कुटुम्बकमकी भावना से ही विश्व में शान्ति व एकता स्थापित होगी। आज दुनिया भर में अराजकता
एवं मारामारी का माहौल है। ऐसे में भावी पीढ़ी को वसुधैव कुटुम्बकम की भावना से अवगत कराना हमारा नैतिक कर्तव्य है।
बच्चों को प्रारम्भ से ही विश्व एकता, विश्व शान्ति, प्रेम, भाईचारा की शिक्षा दी जानी चाहिए तभी ये बच्चे बड़े होकर विश्व एकता का सपना एक दिन पूरा करके दिखलायेंगे।
सी.एम.एस. के संगीत शिक्षकों ने सुमधुर भजनों की श्रृंखला प्रस्तुत कर सम्पूर्ण आडिटोरियम को आध्यात्मिक आलोक से प्रकाशित कर दिया।
विश्व एकता सत्संगमें आज सी.एम.एस. राजाजीपुरम (द्वितीय कैम्पस) के छात्रों ने साँस्कृतिक-आध्यात्मिक प्रस्तुतियों से सबका मन मोह लिया। कार्यक्रम की शुरूआत स्कूल प्रार्थना से करके छात्रों ने नाटक एलिस इन वण्डरस्कूलप्रस्तुत किया।
प्रार्थना नृत्य ‘‘जब सबकी एक है धरती’’ की प्रस्तुति ने खूब तालियाँ बटोरी। माताओं द्वारा प्रस्तुत नृत्य ‘‘साँचा नाम तेरा, तू श्याम मेरा’’ ने सबको मंत्रमुग्ध कर दिया। अंत में छात्रों ने एक्शन साँग ‘‘चाइल्ड इज पोटेन्शियली द लाईट ऑफ द वर्ल्ड’’ प्रस्तुत किया।
मुख्य अतिथि, श्री अनिल कुमार मिश्रा, डिप्टी रजिस्ट्रार, फर्म, सोसायटीज़ एण्ड चिट, उ.प्र., ने दीप प्रज्जवलित कर समारोह का उद्घाटन किया।
इस अवसर पर अपने उद्घाटन भाषण में बोलते हुए मुख्य अतिथि, अनिल कुमार मिश्रा, डिप्टी रजिस्ट्रार, फर्म, सोसायटीज़ एण्ड चिट ने कहा कि आज के युग में बच्चों को किताबी ज्ञान के साथ-साथ नैतिक एवं आध्यात्मिक शिक्षा प्रदान करने की बहुत आवश्यकता है। आज के कार्यक्रम से बच्चों के सर्वांगीण विकास का मार्ग प्रशस्त होगा।

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »