UPBIL/2018/70352

अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस पर जागरूकता रैली का आयोजन


10 दिसंबर 2018 लखनऊ। अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस के अवसर पर मानव अधिकार को लेकर संवाद एवं जागरूकता रैली का आयोजन तेलीबाग लखनऊ में किया गया।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए फोरम के सचिव अमित ने मानव अधिकार पर प्रकाश डालते हुए कहा कि हमारे संविधान में गरिमा की सुरक्षा का अधिकार, शिक्षा का अधिकार, मजदूरों के अधिकार, भूमि का अधिकार, वस्त्र का अधिकार, भोजन एवं दवा के अधिकार और पुलिस उत्पीड़न से बचाव की जानकारी देते हुए सभी को मुफ्त विधिक सहायता के बारे विस्तार से जानकारी दी।
उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित समुदाय को यह भी बताया कि हर मानव को भोजन की जितनी आवश्यकता, आवास एवं कृषि के लिए पर्याप्त भूमि तथा शिक्षा का अधिकार भी मानवीय अधिकारों में शामिल है। इसके साथ हीं मनुष्य को जरूरत के अनुसार दवा की आपूर्ति भी मूल अधिकार है। कोई भी मनुष्य यदि किसी तरह की मजदूरी कर रहे हैं और सही समय पर पर्याप्त मजदूरी नहीं मिलती है तो यह  भी उत्पीड़न के दायरे में आता है। 
 एचआरएमएफ के सदस्य एडवोकेट बिरेन्द्र त्रिपाठी ने कहा कि मानव अधिकारों को पहचान देने, मानवाधिकारों को अस्तित्व में लाने तथा मानवाधिकारों के लिए जारी हर लड़ाई को ताकत देने के लिए हर साल 10 दिसंबर को अंतरराष्‍ट्रीय मानवाधिकार दिवस मनाया जाता है। 
उन्‍होंने कहा कि दुनियाभर में मानवता के खिलाफ हो रहे जुल्मों-सितम को रोकने तथा उसके खिलाफ संघर्ष को नई परवाज देने में इस दिवस की महत्वपूर्ण भूमिका है।
 अमलतास संस्था के सचिव अजय शर्मा ने कहा कि आज पूरे विश्व में मानवाधिकारों का हनन हो रहा है। इसका प्रमुख कारण मानव अधिकारों के प्रति अनभिज्ञ होना है। सरकार को चाहिए कि मानवाधिकारों के प्रति जागरूकता अभियान चलाएं।
 सामाजिक कार्यकर्ता डा. अवधेश कुमार ने कहा कि वर्तमान में दलित और वंचित तबकों के ऊपर हो रहे सुनियोजित हमले इन समाजों के अधिकारों का सीधे सीधे अधिग्रहण करना है।
उन्होंने कहा कि आज यह जरूरी है कि यह सभी तबके एकजुट होकर अपने हकों के लिए संघर्ष करें।
फोरम के यूथ विंग की अध्यक्ष सिमरन ने महिलाओं को सशक्त करने को महिला शिक्षा की यथार्थ रूप में गुणवत्ता और अधिकारों की जानकारी दी। 
साथ साथ सिमरन ने सभी को महिला मानव अधिकारों की सुरक्षा करने की शपथ दिलाई। 
 फोरम के लखनऊ मंडल अध्यक्ष मुन्ना प्रजापति ने कहा कि संसार का कोई भी धर्म किसी बेगुनाह इंसान को मारने की इजाजत नहीं देता है लेकिन कुछ लोग आज अपना स्वार्थ साधने के लिए धर्म का सहारा लेकर खुलेआम लोगों के अधिकारों का कत्ल कर रहे हैं और इंसान से उसके जीने का अधिकार छीन रहे है।
संवाद में सर्वेश कुमार, मेहदी, रीना, नितिन गुप्ता, सोनी गौतम सहित अन्य साथियों ने अपनी बात रखी।
 फोरम के सदस्य संजय भारती और रामेन्द्र मिश्रा के नेतृत्व में कार्यक्रम स्थल तेलीबाग लेबर मंडी से तेलीबाग बाजार तक एक जागरूकता रैली निकाली गई जिसमें सैकड़ों लोगों ने भाग लिया जो पूरे तेलीबाग बाजार में मानव अधिकारों का संदेश दिया।

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »