UPBIL/2018/70352

राज्य सभा सदस्यों से मानव तस्करी विधेयक (2018 ) लागू करने की अपील


आज दिनाक 10/12/2018 ह्यूमन लिबर्टी नेटवर्क के तत्वाधान में  मानवाधिकार दिवस पर माननीय राज्य सभा सदस्यों से मानव तस्करी (रोकथाम,संरक्षण और पुनर्वास) विधेयक (2018 ) लागू करने की अपील हेतु हस्ताक्षर अभियान गाँधी प्रतिमा जी.पी.ओ. हजरतगंज क्षेत्र में चलाया गया. 
इस अभियान में लगभग 1500 लोगो ने हस्ताक्षर कर अपना सहयोग दियाह्यूमन लिबर्टी नेटवर्क उत्तर प्रदेश के स्टेट एडवोकेसी कोऑर्डिनेटर राजेंद्र कुमार ने बताया की राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्डस ब्यूरो के अनुसार 2014 में 5,466 मामलों की तुलना में 2015 में मानव तस्करी के कुल 6,877 दर्ज किये गए थे 2016 में मानव तस्करी के 8,132 मामले थे और यह स्पष्ट संकेत देता है कि भारत में मानव तस्करी की निरंतर व्रद्धि हुयी है। अतः हमारे देश में मानव तस्करी को रोकने के लिए इस विधेयक को लाना अत्यंत आवश्यक हैं।
 ह्यूमन लिबर्टी नेटवर्क दुय्रा ये अभियान दिसंबर से लखनऊआगरा इलाहाबादवाराणसी और आज़मगढ़ में चलाया जा रहा है और इस दौरान 30000 से अधिक लोगो ने अपने  हस्ताक्षर किये और इस बिल को पास कराने के लिए अपनी सहमति दी।  
 मानव तस्करी (रोकथाम, संरक्षण और पुनर्वास) विधेयक (2018 ) में बहुत सारी विशेषताए है – बिल का लक्ष्य मानव तस्करी की एक विस्तृत श्रंखला को कवर करना है जिसके शुरुआत में जबरदस्ती मजदूरी कराना भी  शामिल है , शादी के लिए बच्चे और महिलाओ की तस्करी। यह तस्करी के विभिन्न रूपों के लिए दंड भी देता हैं , इसमे 10 साल की कारावास से जीवन कल की कारावास तक का प्रावधान है, यह बिल इस दुष्कृत्य से बचाए गए पीडितो को भी राहत प्रदान करता है.  ,इस बिल में पहली बार पुनर्वास निधि प्रदान करने की व्यवस्था हैबिल में पीडितो की गोपनीयता रखने पर भी व्यवस्था है और ये बिल जिलाराज्य और राष्टीय स्तर पर एक संस्थागत तन्त्र प्रदान करता है।
 उपरोक्त अभियान में स्वयं सेवीस्थानीय नागरिकस्वयं सेवी संगठनविद्यार्थीमीडियादैनिक यात्री , चाइल्ड लाइन, बढ़ते कदम के सदस्यों , सरकारी अधिकारी एवं अन्य लोगों ने भाग लिया



Share this

Related Posts

Previous
Next Post »