UPBIL/2018/70352

पुराने लखनऊ में भीषण जल समस्या से ग्रसित लोग;जल निगम अधिकारियों का लोगों को सिर्फ आश्वासन


ताजदार अब्बास; लखनऊ  
लखनऊ पश्चिमी विधानसभा क्षेत्र के अन्तर्गत आने वाले पुराने लखनऊ के दर्जनों मुहल्लों में लगभग एक माह से चल रही भीषण जल समस्या को लेकर आज अल्पसंख्यक विभाग के शहर अध्यक्ष एवं अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य मेंहदी हसनबब्लूके नेतृत्व में जल निगम के अधिकारियों का घेराव कर जल समस्या को तुरन्त दूर किये जाने की मांग की गयी।  
यह जानकारी देते हुए मेंहदी हसन ने बताया कि इस मौके पर जल निगम के एक्जीक्यूटिव इन्जीनियर एवं जूनियर इन्जीनियर से फोन पर वार्ता होने एवं जल समस्या को तुरन्त दूर किये जाने के आश्वासन के बाद घेराव समाप्त किया गया।
श्री मेंहदी ने बताया कि लगभग एक माह से पुराने लखनऊ के वार्ड कश्मीरी मोहल्ला के अन्तर्गत टापे वाली गली, फाजिल नगर, मुअज्जम नगर, बुनियाद बाग, पुराना चबूतरा, घण्टा बेग की गढ़इया, दरगाह रोड, खन्ना का तकिया आदि तमाम मुहल्लों में पेयजल की भीषण किल्लत बनी हुई है। बूंद-बूंद पानी के लिए लोग तरस रहे हैं। गर्मी में पेयजल की इस भीषण समस्या से लोग परेशान हैं किन्तु जल निगम के अधिकारी आंखे मूंदे बैठे हैं। बार-बार चेतावनी एवं मांग के बावजूद अभी तक समस्या दूर नहीं हुई है जिससे क्षेत्र के लोगों में आक्रोश व्याप्त है। जिसके चलते आज लोगों के सब्र का बांध टूट गया और श्री मेंहदी के नेतृत्व में पेयजल की समस्या से त्रस्त सैंकड़ों लोगों ने जल निगम अधिकारियों का घेराव कर जल समस्या को अविलम्ब दूर किये जाने की मांग की गयी। इसके बाद अभियन्ताओं द्वारा आश्वासन दिये जाने पर घेराव समाप्त किया गया। 
श्री मेंहदी ने चेतावनी दी है कि यदि शीघ्र ही जल समस्या को दूर नहीं किया गया तो सड़कों पर उतरकर कांग्रेसजन संघर्ष करने को बाध्य होंगे।
उधर त्रिवेणी नगर मे सीतापुर रोड के पूर्वी पटटी पर निवास कर रहे लोगों द्वारा बताया गया कि पेयजल की समस्या निरन्तर बनी हुई है एवं इस समस्या के लिये कोई अधिकारी, पार्षद या स्थानीय विधायक का ध्यान अकर्षित नही हो रहा है। पेयजल का संकट निरन्तर बना है एवं जितने भी स्थानीय विकास कार्य किये गये है वह मात्र सीतापुर रोड के पश्चिम स्थित कालोनी मे अभीतक हुए हैं। पूर्वी हिस्से को विकास से नजरन्दाज किया जाता रहा है।
प्रेसमैन टाईम्स के उप सम्पादक से बात हुई तो उन्होने भी पेयजल की समस्या बतायी किन्तु उन्होने एक और शिकायत बतायी कि स्थानीय कूड़ा घर न होने से प्रेसमैन हाऊस के दफ्तर के आसपास स्थानीय लोग कूड़ा डालते है जिससे उक्त स्थान पर न्यूज आफिस की शुरूवात करने अत्यन्त कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है।


Share this

Related Posts

Previous
Next Post »