UPBIL04881

सहकारिता की जीत भाजपा की लोकप्रियता का परिणाम है:डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय

डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय, प्रदेश अध्यक्ष, भाजपा ने सहकारी संघों के नए अध्यक्षों को विजय पर दी बधाई। भाजपा की इस विजयपर हर्ष व्यक्त करते हुए पाण्डेय ने कहा कि भाजपा ने 80 फीसदी से ज्यादा पदों पर काबिज होकर इतिहास रचा है। प्रदेश में कुल 1405 सहकारी संघों में सभापति और उपसभापति के लिए हुए चुनाव में लगभग 80 प्रतिशत से अधिक पदों पर भाजपा के सभापति और उपसभापति चुने गये है। सहकारिता चुनाव प्रभारी प्रदेश महामंत्री विद्यासागर सोनकर एवं उनकी टीम को कुशल चुनावी प्रबन्धन के लिए बधाई दी।
 डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने आगे कहा कि डेढ़ दशक के बाद पहली बार सहकारी समितियों में लोकतांत्रिक पद्धति से निष्पक्ष चुनाव सम्पादित हुए। भाजपा की इस जीत से विकास के नए आयाम स्थापित होंगे। उन्होने कहा कि मोदी सरकार एवं योगी सरकार किसानों की आय दोगुनी करने के संकल्प के साथ काम कर रही है। भाजपा कार्यकर्ताओं की विजय से सहकारी संघ इस संकल्प को पूरा करने में मुख्य भूमिका निभाएगें। पिछले कई वर्षो से सपा-बसपा सहकारिता आंदोलन को परिवारवाद व वंशवाद के कुचक्र में फंसा कर रखा था। जिसकी वजह से सहकारिता आंदोलन विकास की पैमाने पर खरा नहीं उतर रहा था। सपा-बसपा ने इसे भ्रष्टाचार का अड्डा बना रखा था। भारतीय जनता पार्टी ने इस चुनाव में भ्रष्टाचार समेत तमाम तरह के चक्रव्यूह तोड़कर विजय हासिल की है। भारतीय जनता पार्टी सहकारिता के माध्यम से उत्तर प्रदेश को भारत का नम्बर-1 प्रदेश बनाने की दिशा में काम करेगी। 
डा0 पाण्डेय ने कहा कि सहकारी संघ सपा के इशारे पर घालमेल के खेल में लिप्त होकर विकास कार्यो से कोसों दूर हो चुकी थी, लोकतांत्रिक पद्धति से प्रारम्भ हुई चुनावी प्रक्रिया से छटपटाती सपा के चेहरे पर उलझन छलक रही थी। लेकिन सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा के निष्पक्ष, लोकतांत्रिक चुनाव के संकल्प ने सपाई मंसूबों पर पानी फेर दिया और अस्सी फीसदी से अधिक पदों पर फहराते हुए भाजपाई परचम के नए इतिहास का सृजन किया।  भाजपा कार्यकर्ता सहकारी संघों के माध्यम से जनसेवा के सदकार्य में जुटें। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश में सहकारिता के द्वितीय चरण के चुनाव में मिली भारी सफलता संगठन की रणनीतिक कुशलता तथा संगठन की लोकप्रियता का परिणाम है।
   

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »