UPBIL/2018/70352

अखिलेश यादव पूर्व मुख्यमंत्री: 50 प्रतिशत अतिरिक्त मूल्य देने और किसानों की आय दुगनी करने का भाजपा का वादा क्या हुआ?

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि किसानों को समय से सिंचाई सुविधा नहीं मिल रही है। बुन्देलखण्ड में किसान संकट से जूझ रहे हैं। खाद-बीज तक का अभाव है। जब वे अपनी मांग को लेकर प्रदर्शन करते हैं तो उनके खिलाफ बल प्रयोग होता है ताकि उनकी आवाज दबाई जा सकी। महोबा, बांदा, हमीरपुर में किसान आत्महत्या कर चुके है। महोबा में 55 वर्षीय किसान उमा शंकर की जब फसल छुट्टा जानवरों ने बर्बाद कर दी तो क्षोभ और अवसाद में गत सोमवार को उसने आत्महत्या कर ली। उस पर 18 लाख रूपए का कर्ज भी था। 
       दुःखद है कि भाजपा राज में किसानों के उत्पीड़न एवं आत्महत्या करने का सिलसिला जारी है। किसानों को लगातार धोखा दिया जा रहा है। किसानों को कृषि उत्पाद के लागत मूल्य में 50 प्रतिशत अतिरिक्त मूल्य देने और किसानों की आय दुगनी करने का भाजपा का वादा क्या हुआ? किसानों की कर्जमाफी के नाम पर एक रूपए, सात रूपए और बीस रूपए तक के चेक बंटे है। बार-बार पूछने पर भी कर्जमाफ किसानों का ब्योरा सरकार नहीं दे रही है। 
       अपराधों पर रोक लगाने में नाकाम और कुंठित भाजपा सरकार आलू किसानों की पीड़ा समझने के बजाय झूठे मुकदमों में फंसाने की साजिश करने में कोई संकोच तक नहीं करती है। यह भाजपा सरकार का असली चेहरा है।
       समाजवादी सरकार किसानों और गांव-गरीबों के हितों के लिए प्रतिबद्ध रही है। किसानों की 50 हजार रूपए तक की कर्जमाफी के साथ उनकी बंधक जमीन की नीलामी पर रोक लगा दी गई थी। प्रदेश के बजट में 75 प्रतिशत गांव और किसान के लिए रखा था। किसानों की फसल का बीमा और आपदा राहत की व्यवस्था की गई थी। किसानों को 22 घंटे बिजली दी गई थी। उन्हें मुफ्त सिंचाई सुविधा मिली थी। बुन्देलखण्ड को समाजवादी सरकार ने विशेष पैकेज दिया था। समाजवादी सरकार में ही बुन्देलखण्ड में सूखा पड़ने पर राहत सामग्री पैकेट का वितरण किया गया। अवस्थापना सुविधाओं के विस्तार के साथ कृषि अर्थव्यवस्था को मजबूत करने में समाजवादी सरकार ने कुछ उठा नहीं रखा था। 
       श्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा सरकारें केेन्द्र की हों या प्रदेश की उनका किसान के दुःख दर्द से कोई वास्ता नहीं है। गांव-गरीब, खेती-किसान कभी भाजपा की प्राथमिकता में नहीं रहे। भाजपा की मुख्य चिंता कारपोरेट घरानों के हित साधन की रहती है। अभी पिछले दिनों लखनऊ में भाजपा ने निवेशक सम्मेलन के नाम पर बड़े पूंजी घरानों का जमावड़ा किया जिसमें कृषि को समृद्ध करने की किसी ठोस योजना पर चर्चा तक नहीं हुई। श्रम प्रधान इस देश में पूंजी प्रधान उद्योगों की अव्यवहारिकता पर गांधी जी से लेकर चौधरी चरण सिंह तक की एक राय रही है लेकिन भाजपा ने सत्ता पाते ही स्वदेशी को छोड़कर बड़ी पूंजी की हिमायत शुरू कर दी है।
       बात बहुत साफ है जब चार वर्ष में भाजपा की केन्द्र सरकार किसानों का कोई कल्याण नहीं कर सकी तो राज्य सरकार से विकास की एक ईंट भी रखने की उम्मीद कैसे की जा सकती है?


नोटबंदी करके लोगों की जेबें खाली कराकर बैंकों को मालामाल कर दिया;बड़े घरानों के लोग लूटकर विदेश भाग गए:राजेंद्र चौधरी सपा

लोकसभा क्षेत्र फूलपुर (इलाहाबाद) में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी श्री नागेंद्र प्रताप सिंह पटेल का चुनाव प्रचार जारी है। समाजवादीपार्टी ने दावा किया है कि मतदाताओं के रूझान के मद्देनजर राजनीतिक क्षेत्रों में भी भाजपा को करारा सबक सिखाने की चर्चा शुरू हो गई है। आज समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव से राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष श्री रमेश दीक्षित ने भेंटकर फूलपुर उपचुनाव में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी श्री नागेन्द्र प्रताप सिंह तथा गोरखपुर संसदीय उपचुनाव में इं0 प्रवीण कुमार निषाद को समर्थन देने की घोषणा की। 
         प्रो0 रमेश दीक्षित ने कहा है कि विपक्षी एकता आज समय की मांग है। भाजपा आरएसएस जैसी फासिस्ट ताकतों से देश के लोकतांत्रिक ढंाचे को गंभीर खतरा है। जाति-धर्म की राजनीति जहरीली होती जा रही है। समाजवादी पार्टी उत्तर प्रदेश में भाजपा का पूरी मजबूती से मुकाबला करने में सक्षम है इसलिए उसके प्रत्याशियों का राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी पूरा समर्थन करती है। 
         प्रो0दीक्षित ने कांग्रेस पार्टी से भी अपील की है कि वह लोकतांत्रिक और प्रगतिशील शक्तियों की एकता को मजबूत करने के लिए अपने दोनों प्रत्याशी चुनाव मैदान से हटा ले। भाजपा को शिकस्त देने के लिए यह जरूरी है। 
        समाजवादीपार्टी के प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने अपने बयान में बताया की समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव के निर्देश पर लोकसभा क्षेत्र फूलपुर (इलाहाबाद) के उपचुनाव में पार्टी के अनेक वरिष्ठ नेता मतदाताओं के बीच चुनाव प्रचार करते हुए समाजवादी पार्टी की नीतियों तथा समाजवादी सरकार की उपलब्धियों की जानकारी दे रहे हैं। विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष श्री अहमद हसन, रमेश राजभर आदि व्यापक प्रचार कर रहे हैं।
        समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राजेंद्र चौधरी  ने बताया है कि जनता में सबसे ज्यादा आक्रोश इस बात को लेकर है कि भाजपा की केन्द्र सरकार ने चार सालों में जनहित की कोई योजना लागू नहीं की बल्कि नोटबंदी करके लोगों की जेबें खाली कराकर बैंकों को मालामाल कर दिया। बैंको की जमा पूंजी बड़े घरानों के लोग लूटकर विदेश भाग गए। विदेश से कालाधन तो आया नहीं भारत का धन जरूर बाहर चला गया। जीएसटी ने व्यापारियों की कमर तोड़ दी। नौजवानों को 2 करोड़ नौकरी देने का वादा था पर एक भी नौकरी नहीं मिली। भाजपा राज की योजनाएं सिर्फ कारपोरेट घरानों को लाभ पहुंचाने वाली हैं। किसान, गरीब, मजदूर, अल्पसंख्यक भाजपा की प्राथमिकता में नहीं है। 
        समाजवादी सरकार के समय इलाहाबाद में ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्र में अनेक बड़ी-बड़ी योजनाएं पूर्ण की गई। शहर के पार्कों तथा सड़कों का सुन्दरीकरण एवं चौड़ीकरण कराया गया। म्योर हाल का सुन्दरीकरण, बैडमिन्टन कोर्ट निर्माण एवं एअरकण्डीशनिंग पूर्ण की गई। 
        इलाहाबाद उच्च न्यायालय में माननीय न्यायाधीशों तथा अधिवक्ताओं के लिए चैम्बर निर्मित कराये गये। दारागंज में फ्लाईओवर का निर्माण तथा बारा में विद्युतीकरण योजना पूर्ण हुई। नैनी में नये राज्य विश्वविद्यालय की स्थापना करायी गई। हाथी पार्क, कम्पनीबाग, सिविल लाइन का सुन्दरीकरण कराया गया। भाजपा की 11 माह की सरकार में इलाहाबाद में कोई निर्माण नहीं कराया जा सका। वास्तव में केन्द्र व प्रदेश की सरकारें विकासकारी नहीं वरन् जुमले वाली सरकारें है। इस सच्चाई की चर्चा आम है।
                                                 

रुपयों का बंदरबाट होता था, अपराध होते थे, मिलें बिकती थीं पर अब ऐसा कोई नहीं कर सकता:योगी आदित्यनाथ


गोरखपुरध्लखनऊ 27 फरवरी 2018, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर लोकसभा उपचुनाव में जनता से भाजपा के लिए वोट करने की अपील की। मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले प्रदेश में जनता के पैसों का बंदरबांट होता था, अपराध होते थे, मिलें बिकती थी, किन्तु मुख्यमंत्री ने दावा किया कि भाजपा सरकार में ऐसा कोई नहीं कर सकता है। 
योगी जी ने कहा कि प्रदेश में अनेक सरकारों की कार्य पद्धति को आपने देखा है लेकिन इस तरह का काम करने की  निष्ठा पहले नहीं देखा होगा। सरकार ने 11 महीनों में किसानों का कर्ज माफ कर दिया और 11 लाख गरीबों को प्रधानमंत्री आवास उपलब्ध करा दिया। योगी जी ने कहा कि 37 लाख गरीबों को शौचालय उपलब्ध कराए गए। जहां पहले बिजली नहीं थी आज उन शहरों और गांवों को बिजली मिल रही है, क्योंकि भाजपा ने देश प्रदेश के विकास को परिवार, जाति या क्षेत्र के बंदरबांट से बाहर रखा है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कार्यकर्ताओं ने हमें जनता के आर्शीवाद से पांच चुनाव जिताए और जीत के आंकड़े हर चुनाव में बढ़ते गए, क्योंकि उनके चुनाव में कार्यकर्ता सब कुछ देखते थे इसलिए उन्हें किसी से बात करने की आवश्यकता नहीं पड़ती थी। हर कार्यकर्ता चुनाव जीतने के लिए तन्मयता से लगता था। कार्यकर्ताओं से अपील करते हुए कहा कि जैसे उनके लिए कार्यकर्ता काम में जुटते थे, उसी तरह से उपेंद्र शुक्ल को जिताने के जिए जुटिए। 2019 में प्रदेश की सभी 80 लोकसभा सीटें जीतकर मोदी जी को देना है।
उन्होंने कहा कि पहले जनता के रुपयों का बंदरबाट होता था, अपराध होते थे, मिलें बिकती थीं पर अब ऐसा कोई नहीं कर सकता। आज गोरखपुर को एम्स, खाद कारखाना, पॉलीटेक्निक, अस्पताल, मिल, पुल सहित तमाम चीजें मिल रही हैं।

बी0एड0 व टी0ई0टी-11 संघर्ष मोर्चा का धरना बेसिकशिक्षा निदेशक कार्यालय में जारी

लखनऊ,मंगलवार: बी0एड0 टी0ई0टी0 2011 उत्तीण्र अभ्यर्थियों के पक्ष मे  उच्चतम  न्यायलय  द्वारा पारित अन्तरिम आदेश का अनुपालन बेसिक शिक्षा विभाग उत्तर प्रदेश द्वारा न किये जाने से कुंठित होकर अभ्यर्थियो ने निदेशक बेसिक शिक्षा लखनऊ के कार्यालय  प्रांगण मे धरना दे रहे हैं।
इनका कहना है कि यह सभी बी0एड0 व टी0ई0टी उत्तीर्ण अभ्यर्थी है। इनका यह भी कथन है कि उच्चतम न्ययालय द्वारा एक अन्तरिम आदेश 07 दिसम्बर 2015 को जारी किये गये है एवं उक्त जारी आदेश मे यह व्यवस्था  किये जाने के निदेश हैं कि वे अभ्यर्थीं जो रिटपीटिशन दिनांक 24 फरवरी 2016 तक अवमानना वाद के अन्तर्गत आये हैं इन याचियों को इन्हे 07 दिसम्बर 2015 के मानक पर नियुक्ति दे दी जाय।
इनका कहना है कि उक्त का अनुपालन सुनिश्चित करते हुए 1100 अभ्यर्थियों की नियुक्ति बिना किसी मानक कसौटी के दी जा चुकी है। इनका यह भी कहना है कि इनसे कम अंक प्राप्त को सेवा मे योजित किया जा चुका है, यह अधिक अंक प्राप्त करके विभाग की उदासीनता का शिकार है। इनका कहना है, "कोर्ट द्वारा तीन  अन्तरिम आदेश नियुक्ति हेतु जारी  किये जा चुके हैं फिर भी हमारा भविष्य अंधकार  मे है।" 


उत्तर प्रदेश राज्य की राजधानी में सरकारी सुविधाओं से वंचित :एक चर्चा



अमित आंबेडकर जन समस्याओ की परिचर्चा के दौरान सिकंदरपुर लखनऊ में  
लखनऊ के सरोजिनीनगर ब्लाक के ग्राम सिकंदरपुर में महिलाओं के साथ उनसे जुड़े मुद्दे पर चर्चा हुआ जिसमें महिलाओं ने अपना कडुवा अनुभव साझा किया। 
महिलाओं ने बताया कि उनके साथ कोई घटना होने पर उनकी कहीं भी सुनवाई नही होती। उनको किसी भी सरकारी योजनाओं का लाभ नही मिलता। उन्हें मनरेगा के तहत गांव में काम नहीं मिलता जिसके कारण वह लोग शहर में काम करने जाती है। 
चर्चा में महिलाओं ने ये भी बताया कि उनके गांव से सरकारी अस्पताल काफी दूर है और वहाँ जाने पर इलाज तो होता नही बल्कि दवा बाहर से लिख देते है। 
राजधानी में होने के बाद भी उनके बच्चे शिक्षा से वंचित है उनके बच्चों का स्कूल में दाखिला नही किया जाता और उनके यहाँ कोई भी आगनवाड़ी केन्द्र नही है। 
चर्चा में शामिल महिलाओं को ह्यूमन राईट मानिटरिंग कमेटी ने उन्हें आस्वस्त किया कि अब उनके बच्चों को बंथरा में चल रहे ह्यूमन राईट इजुकेशन सेन्टर मुफ्त में शिक्षा के साथ उनके परिवार को मुफ्त मे कानूनी मदद और सरकारी योजनाओं का लाभ दिलवाने में मदद करेगा। 
चर्चा में शामिल अमलतास संस्था के अजय शर्मा ने महिलाओं का स्वास्थ्य परिक्षण कराने के लिए कैम्प लगवाने की बात कही है जिससे वह स्वस्थ जीवन गुजार सकें।

आप सभी से अपील करता हूॅ कि मुझसे भी ज्यादा मतों से आप कौशलेन्द्र सिंह पटेल को विजयी बनाएं: केशव प्रसाद मौर्य

भारतीय जनता पार्टी ने फूलपुर लोकसभा उपचुनाव में जनजन तक अपनी पहुंच बनाने की फिराक मे है। उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य जनसभाओं एवं क्षेत्र के स्थानीय नुक्कड़ सभाओं में मोदी सरकार और योगी सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं को जनता क समक्ष रखा और जनता से भाजपा को पुनः विजयी की सीधी अपील की। श्री केशव मौर्य ने अपनी अपील मे कहा कि इतिहास में अबतक की सबसे बड़ी जीत आपने मुझे दी थी, मुझसे भी ज्यादा मतों से कौशलेन्द्र सिंह पटेल को विजयी बनाएं। 

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने जनसंवाद स्थापित करते हुए सीताराम पटेल इण्टर कालेज गोहरी में कहा कि फूलपुर की देवतुल्य जनता ने इतिहास की सबसे बडी जीत मुझे दी थी, इतने बडे अंतर से नेहरू जी भी नहीं जीतते थे। आप सभी से अपील करता हूॅ कि मुझसे भी ज्यादा मतों से आप कौशलेन्द्र सिंह पटेल को विजयी बनाएं। 
 केशव मौर्य ने आगेे कहा कि एक वर्ष से भी कम समय में भाजपा सरकार ने प्रदेश को आर्थिक समृद्धि के पथ पर बढ़ा दिया है। किसानों का कर्ज माफ, गेहूॅ खरीद, धान खरीद का रिकार्ड, अवैध कत्लखाने बंद कराए गए। खुले में घूम रहे मावेशियों के लिए व्यवस्था करने पर विचार चल रहा है, जल्द ही प्रभावी योजना उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा लायी जायेगी। गौशालाओं और गायों के आश्रय स्थलों के निर्माण से भी समस्याओं का समाधान होगा। गुण्डागर्दी को रोक दिया गया है, अपराधी डर के साए में है। किसानों की आय बढाने के लिए सरकार ने ठोस कदम उठाए है। 
श्री मौर्य ने कहा कि सांसद के तौर पर मैंने कई विकास कार्यो के प्रस्ताव भेंजे पूर्व सरकार को भेजे थे जिनमें अखिलेश यादव सरकार ने अंडगा लगाया, आज सरकार बदली है तो योजनाएं अपना मूर्त रूप धरण करने लगी है। संगम मेगा फूडपार्क की आधार शिला रखी गई है जो किसानों की आमदनी बढ़ाएगी। लक्ष्मी जी फूल पर बैठकर ही आती है फूलपुर की समृद्धि भी कमल के फूल के साथ ही जुडी है। 
श्री मौर्य ने यादवपुर, ददौली चैराहा, हरिसेनगंज, ब्लाक चैराहा, मऊआइमा, जमुई, कलन्दापुर, कमलानगर, सिकन्दरा, सरायचन्दी आदि में जनसभाओं को सम्बोधित किया। विधायक आर.के. वर्मा व प्रदेश प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी भी उपस्थित रहे। 

मुख्यमंत्री योगी की होली मथुरा मे;उत्तर प्रदेश पर्यटन को बढ़वा:भाजपा

सुचित बाजपेई ;लखनऊ 
लखनऊः मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपनी होली मथुरा मे मनायेंगे। पार्टी का मानना है कि इससे पर्यटन को बढ़वा मिलेगा, किन्तु उत्तर प्रदेश की आयोध्या, मथुरा, काशी, सारनाथ, एवं आगरा सभी पर्यटन के केन्द्र रहे है ऐसी दशा मे इन कार्यक्रमो के द्वारा दोहरा फायदा प्राप्त करने की कोशिश माना जा सकता है। लोकसभा चुनाव अगले वर्ष 2019 मे होना तय है। इन कार्यक्रमो से योगी जी की आस्था का प्रचार प्रसार होगा जिसे बहुमत से मानने वाले लोग हैं वहीं कहीं न कहीं धर्म के प्रति दृढ़ विश्वास का प्रचार प्रसार परोक्ष रूप से होगा जिसका फायदा पार्टी को मिलेगा।
इस कार्यक्रम के संबंध मे भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता शलभ मणि त्रिपाठी का एक बयान आया है। उन्होने कहा है कि हाल के सालों में यह पहली बार है जब कोई मुख्यमंत्री होली का पर्व मनाने मथुरा के बरसाना पहुंच रहे हैं। ये एक ऐतिहासिक कदम है और मथुरा के बरसाना में होने वाली इस विश्वविख्यात होली में मुख्यमंत्री योगी आदित्नाथ जी की मौजूदगी से न सिर्फ सांस्कृतिक पर्यटन का विकास होगा बल्कि उत्तर प्रदेश की दुनिया भर में एक शानदार पहचान भी बनेगी।
  श्री त्रिपाठी ने कहा कि इससे पूर्व मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्नाथ जी ने अयोध्या में दीपावली के अवसर पर शानदार दीपोत्सव का आयोजन कराकर भी दुनिया की नजरें उत्तर प्रदेश की तरफ खींची थी। 
उन्होने आगे कहा कि उत्तर प्रदेश की बड़ी पहचान काशी, मथुरा और अयोध्या की वजह से भी है। ऐसे में इन धार्मिक और सांस्कृतिक स्थलों को विश्वस्तरीय पहचान दिलाने के लिए मुख्यमंत्री जी का प्रयास साधुवाद के काबिल है।
 बरसाना की इस होली को देखने के लिए दुनिया भर से पर्यटक यहां पहुंचते हैं। मुख्यमंत्री की मौजूदगी में होली का आयोजन इस पूरे समारोह को ऐतिहासिक बना देगा। मुख्यमंत्री बरसाना के नंदगांव में होली खेलने के लिए आने वाले हुरियारों की खुद अगवानी करेंगे।
 इस मौके पर प्रदेश सरकार के तमाम मंत्री और जनप्रतिनिधिगण भी मौजूद रहेंगे। इल दौरान मुख्यमंमत्री जी गोशाला भी जाएंगे।
 इन दोनों आयोजनों ने भी विदेशी पर्यटकों को उत्तर प्रदेश की तरफ खींचा। महादेव की नगरी काशी विश्वनाथ में भी नए सिरे से सुंदरीकरण के काम तेजी से शुरू हो चुके हैं। बड़ी संख्या में देश और विदेश से पर्यटक काशी पहुंचते हैं। पार्टी ने दावा किया है कि ऐसे में काशी के विकास के साथ ही यहां के पर्यटन का विकास भी तेजी से होने लगा है। 

महंगाई बढ़ती है तो बढ़े, किसानों को बेहतर न्यूनतम समर्थन मूल्य मिलेगा: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

इस निवेशक मेला के जरिए चाहती तो भाजपा कृषि अर्थ व्यवस्था को गति देने का काम भी कर सकती थी: राजेन्द्र चौधरी समाजवादी पार्टी 

राजेन्द्र चौधरी  प्रवक्ता समाजवादी पार्टी ने अपने एक बयान मे कहा है कि रोजगार भी भाजपा सरकारें क्या पैदा करेंगी जबकि उन्होंने श्री अखिलेश यादव के समय भर्ती हुए नौजवानों को सड़क पर पहुंचा दिया है।
        अपने इस बयान मे आगे कहा है कि भाजपा सरकार इस निवेशक मेला के जरिए चाहती तो कृषि अर्थ व्यवस्था को गति देने का काम भी कर सकती थी लेकिन उसका सारा ध्यान वाहवाही पर ही लगा है। मानवीय श्रम आधारित उद्योग की जगह पूंजी प्रधान उद्योग लगाने पर जोर असंतुलित विकास को बढ़ाएगा। चार वर्ष में केंद्र सरकार ने एक भी कदम किसानों के हित में नहीं उठाया है। किसानों के प्रति किए गए भाजपा के सभी वादे झूठे साबित हुए हैं। किसान की आत्महत्या भी भाजपा नेतृत्व को झकझोरती नहीं। 
          उन्होने कहा उत्तर प्रदेश से भाजपा के 73 सांसद चुने गए हैं लेकिन उन्होंने कभी प्रदेश के विकासकार्यों में कोई रूचि नहीं दिखाई। समाजवादी सरकार के समय श्री अखिलेश यादव ने राज्य का कल्पनातीत विकास किया है। भाजपा को अपने संकल्प पत्र की चुनावी वादों की कतई चिंता नहीं रही है। अब जब लोकसभा चुनाव सिर पर हैं तो फिर जनता को भ्रमजाल में फंसाने के करतब किये जा रहे हैं पर जनता सच्चाई से परिचित है। श्री अखिलेश यादव ने बार-बार कहा है कि अब समय आ गया है कि सच्चाई पर चर्चा होनी चाहिए। कोई भी सच्चाई से भाग नहीं सकता।
 उधर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक आर्थिक समाचार पत्र के कार्यक्रम मे शामिल हुए। वित्तीय अनियमितताओं के अलावा प्रधानमंत्री जिन विषयों पर बोले उनमें से दूसरा अहम विषय महंगाई का है. उन्होंने स्पष्ट कहा कि महंगाई बढ़ती है तो बढ़े, महंगाई बढ़ती देखने वाले ये भी देखें कि किसानों को बेहतर न्यूनतम समर्थन मूल्य मिलेगा.
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि उनकी सरकार हर हाल में किसानों को डेढ़ गुना एमएसपी देने के पक्ष में है. देश में इससे महंगाई बढ़ने का भी यदि आंकलन है तो किसानों को उनके हक का पैसा दिलाया जाएगा. लिहाजा, पीएम मोदी ने देश में अन्य सभी वर्गों से कहा कि वह इस काम को पूरा करने के लिए अपना योगदान दें.
नरेंद्र मोदी ने कहा कि किसानों की खेती में लागत जोड़ने के लिए किसान के परिश्रम का मूल्य, मवेशी खरीदने अथवा किराए पर लेने का खर्च, बीज की खर्च, खाद, सिंचाई, लैंड रेवेन्यू, ब्याज, लीज की जमीन का किराया जैसे सभी खर्चों को शामिल किया जाएगा. इसके अलावा, उसकी लागत का मूल्यांकन करने के लिए किसान और उसके परिवार के सदस्यों का परिश्रम मूल्य भी जोड़ा जाएगा.


बिजनौर विधायक लोकेन्द्र सिंह की अंत्येष्ठि उनके पैतृक गांव, आलामपुर, बिजनौर में की गयी

लखनऊ 22 फरवरी 2018, भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय नूरपुर, बिजनौर से विधायक स्व0 लोकेन्द्र सिंह चैहान जिला सीतापुर के निकट जब वह इन्वेस्टर समिट मे भाग लेने के लिये अपनी फर्च्यूनर गाड़ी पर सवार लखनऊ की ओर आ रहे थे का निधन एक सड़क दुर्घटना मे हो गया के अंत्येष्ठि में उनके पैतृक गांव, आलामपुर, बिजनौर में शामिल हुए। 
डा0 पाण्डेय ने स्व0 लोकेन्द्र सिंह की आकष्मिक मृत्यु पर उनके परिवार को सांत्वना और शोक संवेदना दी और उनके दुख में स्वयं को जोड़ते हुए कहा कि इनके आकष्मिक निधन से पार्टी को अपूरणीय क्षति पहुंची है। उनके असमयिक निधन से हम सब स्तब्ध है।


डा0 पाण्डेय ने स्व0 सिंह और उनके साथ दिवंगत हुए अन्य लोगों की आत्मा को शांति एवं परिवार को इस अपार दुःख को सहने की शक्ति देने के लिए परम पिता परमेश्वर से प्रार्थना की, स्व0 लोकेन्द्र सिंह की अन्त्येष्ठि में उनके साथ प्रदेश उपाध्यक्ष संजीव बालियान, व अन्य बीजेपी के विधायक, मंत्री मनोज पारस विधायक नगीना सपा, मूंल चन्द्र चैहान पूर्व मंत्री सपा, स्वामी ओमवेश पूर्व मंत्री सपा, नसीम पठान कांग्रेस महासचिव आदि सैकड़ो लोग उपस्थित रहे।

जनकल्याणकारी नीतियों से भाजपा उपचुनावों में विजयी परचम फहराएगी:डाॅ. महेन्द्र नाथ पाण्डेय

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी प्रदेश अध्यक्ष डाॅ. महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने कहा कि लोकसभा उपचुनाव में विपक्ष फिर होगा चारों खाने चित। देश का जनमानस भाजपा के साथ है। 
गुजरात निकाय चुनाव में जनता ने विपक्ष को फिर  एक बार नकार कर मोदी जी के नेतृत्व में आगे जाने का संकल्प दोहरा दिया है। 
प्रदेश अध्यक्ष डाॅ. महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने कहा कि मोदी सरकार को जनता के हित में काम करते हुए लगभग वर्ष पूरे हो चुके है और इन वर्षो में लगातार देश की जनता का विश्वास मोदी जी के नेतृत्व में दृढ होता जा रहा है। 
गांवगरीबकिसानयुवा मजदूर एवं युवाओं के हित में चलाई गई लोक कल्याणकारी योजनाएं अपनी दमक से जहां जन-जन का विश्वास जीतने में सफल हो रही है वहीं न्यू इण्डिया की मजबूत नींव भी पड़ रही है। 
इसी में एक सुखद संयोग योगी सरकार का गठन भी रहा। योगी सरकार  औद्योगिक पिछ़डापन से जूझ रहे उत्तर प्रदेश को एक औद्योगिक प्रदेश बनाने की दिशा में भरपूर प्रयास कर रहे हैवहीं किसान एवं नौजवान के हित में चलाई गई अनेक लोक कल्याणकारी योजनाओं से आर्थिक आजादी का मार्ग प्रशस्त कर रहे है। जिससे श्रेष्ठ यूपी की मजबूत आधारशिला भी पड़ रही है। 
डाॅ. महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने आगे कहा कि गुजरात निकाय चुनाव में भाजपा की जीत का फिर एक बार विगुल बजा है। 

गोरखपुर और फूलपुर में भाजपा प्रत्याशियों ने नामांकन में उमड़ा जनसैलाब भाजपा को विजयी आशीर्वाद है। मुद्दाविहीन विपक्ष के पास विकास का न विजन है न लोककल्याण की नीतियां। 
मोदी जी और योगी जी की जनकल्याणकारी नीतियों से भाजपा उपचुनावों में विजयी परचम फहराएगी। संगठन पूरी तैयारी के साथ चुनावी मैदान में हैबूथ स्तर तक भाजपा कार्यकर्ता विजय के वरण के लिए जुट चुके है। गुजरात निकाय चुनाव में जीत की गूंजयूपी उपचुनाव में और भी तेज होगी।
 





भाजपा राज में निवेश के नाम पर एक नया करतब: अखिलेश यादव पूर्व मुख्यमंत्री

लखनऊ: इधर उत्तर प्रदेश सरकार व  भारतीय जनता पार्टी इन्वेस्टर समिट 2018 की तैयारी मे पूरे जोश व खरोश से लखनऊ के इन्दिरागांधी प्रतिष्ठान मे प्रतिभाग लेने वाले देश के बड़े-बड़े उधोगपतियो के स्वागत व अभिनन्दन हेतु जुटी हुई है। ठीक इसके पहले समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का बयान आया है।
अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा को अपनी खोखली नीतियों और विकास के काम में पिछड़ जाने का खासा एहसास हो चला है। इसलिए उसके नेताओं ने जोसेफ गोएबल्स की शरण ले ली है।एक  झूठ को बार-ंबार दुहराकर सच साबित करने की इस बदनाम शैली को जनता जान गई है। समाजवादी सरकार के काम और भाजपा की राज्य सरकार की नाकामी का पूरा ब्यौरा उसके सामने है। इसलिए जनता की आंखों में धूल -झोंकने की भाजपाई कोशिश अब रंग नहीं ला पाएगी।
भाजपा नेतृत्व के पास गिनाने को अपनी एक भी योजना नही है। जनता मंहगाई से त्रस्त है। किसान की फसल का लागत मूल्य भी नहीं मिल रहा है। बदहाली में वह आत्महत्या करने लगा है। नौजवान को रोजगार नहीं मिल रहा है।ग्राम प्रधान विकास कार्य का फण्ड इनके प्रतिबंध के कारण खर्च नही कर पा रहे हैं।
 हॉ, भाजपा राज में निवेश के नाम पर एक नया करतब सामने आ रहा है। अमीर गरीबों का बैंक में जमा पैसा लेकर भाग गये हैं। भाजपा राज में अपराधियों की पौबारह है। पुलिस वाले उनसे भय खाते हैं। थानों में भाजपा नेता बैठकें करते हैं। अपराधी न जेल में हैं और नहीं प्रदेश छोड़कर गए हैं। वे सब भाजपा में ही शरणागत हैं। भाजपा सरकार ने नकल रोकने के बहाने से लाखों परीक्षार्थियों का भविष्य अंधेरे में कर दिया हैं। जब उनके पास परीक्षा परिणाम नहीं होगा तो वे कौन सी नौकरी पाने के हकदार होंगे। बेरोजगारी से निबटने का यह भाजपा का नायाब तरीका है।
भाजपा की केन्द्र में और राज्य में सरकारें हैं पर जनहित की एक भी अपनी योजना वे लागू नहीं कर सके। भाजपा शासित राज्यों में भी मेट्रो नहीं चल सकी है। न एक्सप्रेस-ंवे बनी हैं भाजपा तो अभी भी उत्तर प्रदेश को बीमारू राज्य बता रही है। 
गुजरात में 23 वर्ष से भाजपा शासन में है लेकिन वहां भी आगरा लखनऊ एक्सप्रेस-ंवे जैसा एक्सप्रेस-ंवे नही बन सका जबकि समाजवादी सरकार ने तो 23 माह में ही एक्सप्रेस-ंवे बना दिया जो भारत में सबसे बड़ा एक्सप्रेस-ंवे है। 
समाजवादी सरकार के समय हुए विकास को नकारा जा रहा है। इसलिए अब भाजपा राज की चाय-ंपकौड़ी राजनीति के बजाय सच्चाई पर चर्चा होना जरूरी हो गया है। 

सहकारिता की जीत भाजपा की लोकप्रियता का परिणाम है:डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय

डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय, प्रदेश अध्यक्ष, भाजपा ने सहकारी संघों के नए अध्यक्षों को विजय पर दी बधाई। भाजपा की इस विजयपर हर्ष व्यक्त करते हुए पाण्डेय ने कहा कि भाजपा ने 80 फीसदी से ज्यादा पदों पर काबिज होकर इतिहास रचा है। प्रदेश में कुल 1405 सहकारी संघों में सभापति और उपसभापति के लिए हुए चुनाव में लगभग 80 प्रतिशत से अधिक पदों पर भाजपा के सभापति और उपसभापति चुने गये है। सहकारिता चुनाव प्रभारी प्रदेश महामंत्री विद्यासागर सोनकर एवं उनकी टीम को कुशल चुनावी प्रबन्धन के लिए बधाई दी।
 डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने आगे कहा कि डेढ़ दशक के बाद पहली बार सहकारी समितियों में लोकतांत्रिक पद्धति से निष्पक्ष चुनाव सम्पादित हुए। भाजपा की इस जीत से विकास के नए आयाम स्थापित होंगे। उन्होने कहा कि मोदी सरकार एवं योगी सरकार किसानों की आय दोगुनी करने के संकल्प के साथ काम कर रही है। भाजपा कार्यकर्ताओं की विजय से सहकारी संघ इस संकल्प को पूरा करने में मुख्य भूमिका निभाएगें। पिछले कई वर्षो से सपा-बसपा सहकारिता आंदोलन को परिवारवाद व वंशवाद के कुचक्र में फंसा कर रखा था। जिसकी वजह से सहकारिता आंदोलन विकास की पैमाने पर खरा नहीं उतर रहा था। सपा-बसपा ने इसे भ्रष्टाचार का अड्डा बना रखा था। भारतीय जनता पार्टी ने इस चुनाव में भ्रष्टाचार समेत तमाम तरह के चक्रव्यूह तोड़कर विजय हासिल की है। भारतीय जनता पार्टी सहकारिता के माध्यम से उत्तर प्रदेश को भारत का नम्बर-1 प्रदेश बनाने की दिशा में काम करेगी। 
डा0 पाण्डेय ने कहा कि सहकारी संघ सपा के इशारे पर घालमेल के खेल में लिप्त होकर विकास कार्यो से कोसों दूर हो चुकी थी, लोकतांत्रिक पद्धति से प्रारम्भ हुई चुनावी प्रक्रिया से छटपटाती सपा के चेहरे पर उलझन छलक रही थी। लेकिन सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा के निष्पक्ष, लोकतांत्रिक चुनाव के संकल्प ने सपाई मंसूबों पर पानी फेर दिया और अस्सी फीसदी से अधिक पदों पर फहराते हुए भाजपाई परचम के नए इतिहास का सृजन किया।  भाजपा कार्यकर्ता सहकारी संघों के माध्यम से जनसेवा के सदकार्य में जुटें। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश में सहकारिता के द्वितीय चरण के चुनाव में मिली भारी सफलता संगठन की रणनीतिक कुशलता तथा संगठन की लोकप्रियता का परिणाम है।
   

श्री खाटू श्याम ज्योत मण्डल का दो दिवसीय कार्यक्रम समापन समारोह



श्री खाटू श्याम ज्योत मण्डल(रजि0) लखनऊ जो प्रत्येक वर्ष होली से पूर्व यह भक्ति भाव पूर्ण कार्यक्रम तिलक नगर मे आयोजित कराती रही है इसी श्रंखला मे दो दिवसीय कार्यक्रम का भव्य आयोजन तिलक नगर महाराजा अग्रसेन पार्क मे हुआ। इस कार्यक्रम मे स्थानीय भक्तो की बड़ी भीड़ उपस्थित थीं।
रविवार को कार्यक्रम के समापन पर शोभा यात्रा निकली गई। यह शोभा यात्रा स्थानीय भक्तों द्वारा महाराजा अग्रसेन पार्क से प्रारम्भ होकर रामनगर शास्त्रीनगर, रकाबगंजपाण्डेयगंज, रानीगंज, गनेशगंज, नाका हिण्डोला होते हुए चारबाग हनुमान मन्दिर पर समाप्त हुई। एकादशी पर राजस्थान के खाटू में विशाल मेला लगता है जिसमें कि देश व
विदेश से लाखों की संख्या में भक्त दर्शन के लिये आते है। लोगो को ऐसा विश्वास है कि इस सच्चे दरबार से कोई भी आज तक खाली नहीं लौटा है। खाटूश्याम ज्योत मण्डल के सभी सदस्य 21 फरवरी को मरूधर एक्सप्रेस द्वारा जयपुर जायेंगे, जहॉ वे 22@23 फरवरी को खाटू में बाबा को निशान चढ़ायेंगे।



लखनऊ की झलक


फरवरी 13 , 2018:  थाना खालाबाजार लखनऊ की पुलिस, चौकसी के तहत, बल के साथ मंगलवार सायंकाल गश्त लगाया, यह गश्ती दौरा करेहटा गांव मोतीझील रोड व ताल कटोरारोड पर किया गया। जगह-जगह तलाशी व दो पहिया वाहन आदि की मौके पर चेकिंग की गई। होटल, पान की दुकान, देशीशराब विक्रेता, अंग्रेजी शराब विक्रेता मांॅडलशॉप आदि की मौके पर तलाशी व चेकिंग की गई।
  

फूलपुर और गोरखपुर के उपचुनाव के लिए भाजपा ने रणनीति बनायी

लखनऊ 12 फरवरी 2018, भारतीय जनता पार्टी प्रदेश पदाधिकारियों की पहली बैठक प्रदेश पार्टी मुख्यालय पर सम्पन्न हुई। प्रदेश अध्यक्ष डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने प्रदेश पदाधिकारियों को शुभकामनाएं दी तथा आगामी योजनाओं एवं कार्यक्रमों की कार्ययोजना रखते हुए सभी को जुटने के निर्देश दिए।
बैठक के पश्चात प्रदेश अध्यक्ष डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि मोदी जी एवं अमित शाह जी की नीतियों का मूलमंत्र है कि समाजहित में आराम की गुंजाइश नहीं है। इसी को आत्मसात करते हुए नई टीम को दिन-रात  अथक परिश्रम का मूलमंत्र दिया गया। संगठनात्मक स्किल एवं तजुर्बे बाले लोगों को नई टीम में जगह दी गई है और आगे भी कार्यकर्ताओं का सदुपयोग किया जाएगा।
डा0 पाण्डेय ने बताया कि बैठक में सहकारिता चुनाव की उपलब्धियों पर प्रसन्नता व्यक्त की गई। आगामी दिनों में फूलपुर और गोरखपुर के उपचुनाव के लिए संगठनात्मक अभियानों की समीक्षा की गई। गत दिनों चला जनसहयोग केन्द्र फिर से प्रारम्भ किया जाएगा। प्रत्येक सोमवार व मंगलवार को कार्यकर्ता केन्द्रित जन सहयोग केन्द्र प्रारम्भ होगा। संगठनात्क प्रक्रिया में नीचे से आई हुई प्रदेश स्तरीय समस्याओं का समाधान होगा। 19 मार्च को योगी सरकार के एक वर्ष पूर्ण होने पर प्रदेश सरकार की अनेक जनकल्याणकारी योजनाओं व उपलब्धियों को बूथ स्तर तक ले जाएेंगे और जनता से संवाद कायम करेंगे।
डा0 पाण्डेय ने कहा कि लोककल्याणकारी राज्य के लिए सरकार बनती है। मा0 मोदी जी के नेतृत्व में चल रही लोककल्याणकारी सरकार की नीतियां एवं योजनाएं एवं उपलब्धियां जनता तक पहुंचाएंगे। उन्होंने कहा कि शिवरात्रि के ठीक बाद फूलपुर व गोरखपुर उपचुनाव के लिए भाजपा प्रत्याशियों की घोषणा कर दी जायेगी। हमारी चुनाव की पूरी तैयारी है, जनता का आशीर्वाद हमारे साथ है, हम शानदार तरीके से दोनों सीटें जीतेंगे।  


  


पं. दीनदयाल उपाध्याय की 50वीं पुण्यतिथि पर व्याख्यान का आयोजन

लखनऊ 12 फरवरी 2018, डा सतीश चंद्र द्विवेदी, इटवा के विधायक एवं अर्थशास्त्र के प्रोफेसर, भाजपा प्रदेश मुख्यालय में पं. दीनदयाल उपाध्याय की 50वीं पुण्यतिथि पर आयोजित व्याख्यांन के दौरान कहा देश  में सत्तर साल के बाद सरकार की आर्थिक नीतियां आम आदमी के लिए खुशियों की सौगात लेकर आयी है। केन्द्र की भाजपा सरकार और देश के उन्नीस राज्यों में चल रही भाजपा की सरकारों की आर्थिक योजनाएं समाज के अंतिम व्यक्ति से आरंभ हो रही हैं। किसान युवा महिला और समाज के अंतिम पायदान पर खड़े लोगों के आधार पर देश की वित्तीय नीतियां तय हो रही है। पं. दीनदयाल जी ने अपने चिन्तन में आम मानव से जुड़ी जिन चिंताओं और समाधानों को समझाने का प्रयास आज से दशकों पहले किया था, आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  और प्रदेश की आदित्य कर रही हैं। भारत और भारतीयता के संवाहक एवं संचारक के रूप दीन दयाल उपाध्याय के विचार किसी आदर्शलोक का दर्शन होने की बजाय व्यवहारिकता के धरातल पर बेहद मजबूती से टिकते नजर आते हैं। 
डा. द्विवेदी ने  आगे कहा कि पंडित दीन दयाल उपाध्याय द्वारा एकात्म मानववाद का विकल्प उस कालखंड में दिया गया जब देश में समाजवाद, साम्यवाद जैसी आयातित विचारधाराओं का बोलबाला था। भारत में भारतीयता को पुनर्जीवित करने वाली विचारधारा की बजाय समाजवाद एवं साम्यवाद जैसी आयातित विचारधाराओं का बोलबाला होना भारतीयता के लिए अनुकूल नहीं था। पंडित जी ने भारत की समस्या को भारत के सन्दर्भों में समझकर उसका भारतीयता के अनुकूल समाधान देने की दिशा में एक युगानुकुल प्रयास किया। पंडित जी मानते थे कि राष्ट्र के निर्माण और उसकी मजबूती में उसकी विरासत के मूल्यों का बड़ा योगदान होता है। देश के आम जन जीवन की बेहतरी, आम जन-जीवन की सुरक्षा, आम जनता को न्याय आदि के संबंध में एक समग्र चिन्तन अगर किसी एक विचारधारा में मिलता है तो वो एकात्म मानववाद का विराट दर्शन है। पंडित जी द्वारा प्रदिपादित इस विचार दर्शन में ‘एकात्म’ का आशय अविभाज्य अथवा एकीकृत अवधारणा से है। वहीं मानववाद से आशय यह है कि सबकुछ मानव मात्र के कल्याण हेतु संचालित हो।
उन्होंने कहा कि समय की जरूरत थी कि, पंडित दीन दयाल जी द्वारा देश के राजनीतिक, सामाजिक एवं आर्थिक विकास की दिशा में दिए गये विचार दर्शन को सरकार की नीतियों में प्रमुखता से शामिल किया जाय। जब पंडित जी स्व की बात कर रहे थे तो उनका स्पष्ट दृष्टिकोण राष्ट्र की बहुमुखी आत्मनिर्भरता को स्थापित करना था। तत्कालीन दौर बेशक तकनीक के दौर वाले आधुनिक भारत से बेहद अलग था, मगर उनके स्व की अवधारणा का अगर मूल्यांकन करें तो उनकी दृष्टि में एक सक्षम भारत का भावी था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में काम कर रही भारत सरकार उसीदृष्टि को अपनी नीतियों में प्रमुखता से लागू कर रही है। आत्मनिर्भरता से अन्त्योदय की राह निकालने की दृष्टि के साथ काम कर रही भाजपा-नीत केंद्र सरकार की तमाम योजनाओं में अंतिम कतार के व्यक्ति को आत्मनिर्भर बनाने का संकल्प और प्रतिबद्धता साफ दिखती है।
अगर हम केंद्र सरकार के एक कार्यक्रम मेक इन इण्डिया को ही उदाहरण के तौर पर लें तो यह कार्यक्रम वैश्वीकरण के इस दौर में भारत को निर्माण एवं रोजगार के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में मील का पत्थर साबित होने वाला कार्यक्रम है। सरकार उज्व्ाला योजना हर गरीब आदमी के घर को विकास की राह पर लाने वाली योजना है। हर गांव में बिजली देने की बात करना सरकार द्वारा पंडित जी के विचारों को जाग्रत करना ही माना जा रहा है। वर्तमान में जब केंद्र में उसी दल की सरकार है जिसकी नींव की पहली ईंट रखने में दीन दयाल उपाध्याय जी का महती योगदान था तो उनके विचारों का सरकार की नीतियों में व्यापक प्रभाव पड़ना स्वाभाविक है। स्टार्ट-अप, स्टैंड-अप जैसी योजनाओं के माध्यम से सरकार ने अंतिम व्यक्ति को सबल, सक्षम और स्वालम्बी बनाने की दिशा में कार्य को आगे बढ़ाया है। 
व्याअख्यान माला के विशिष्ट अतिथि डा अभय मणि त्रिपाठी ने कहा कि, पंडित जी का स्पष्ट मानना था कि जो व्यक्ति आर्थिक रूप से स्वतंत्र नहीं होता है वह राजनीतिक रूप से भी स्वतंत्र नहीं होता है। आज सरकार आम जन को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर और स्वालम्बी बनाने की दिशा में जिन प्रयासों पर सतत काम कर रही है, वो वाकई इन्हीं विचारों से ओत-प्रोत नजर आते हैं। चूँकि भारत की अर्थव्यवस्था के मूल में कृषि है लिहाजा पंडित दीन दयाल उपाध्याय कृषि सुधारों पर खास जोर देने की बात करते थे। वे कृषि में भारतीय कृषि के अनुरूप आधुनिकता का प्रवेश भी चाहते थे। वर्तमान केंद्र सरकार द्वारा कृषि सुधारों की दिशा में सॉयल हेल्थ कार्ड जैसी योजना को लाना यह प्रमाणित करता है कि सरकार कृषि सुधार को आधुनिक तकनीक के माध्यम से करने की दिशा में लगातार नवाचार कर रही है। पंडित जी ने सनातन भारतीय अर्थ चिंतन को एक युगानुकूल नाम दिया और उसे सहजता एवं सरलता के साथ लोगों को समझाने का प्रयास किया। 
व्याख्यानमाला की अध्यक्षता करते हुए पार्टी के प्रवक्ता डा चंद्र भूषण पांडेय ने कहा कि पुनर्जागरण के बाद भारत में तीन स्वदेशी राजनीतिक चिंतन का जो विकास हुआ है उसका आधार कही न कही भारत की पुरातन परम्परा को अवशेष हैं। इन तीनों में संस्कृति और धर्म का व्यापक स्थान है। उन तीन राजनीतिक आर्थिक चिंतन में गांधी, लोहिया और दीनदयाल का नाम आता है। इन तीनों चिंतन में भौतिक समृद्धि के साथ ही साथ आध्यात्मिक उन्नयन का भी समावेश है। यह तीनों चिंतन व्यक्ति को पूर्ण रूप से विकसित करने का चिंतन है। मैं तीनों ही चिंतन को समान मानता हूं लेकिन दीनदयाल जी का कालखंड बाद तक रहा और उनको अपने चिंतन को विकसित करने का थोड़ा समय भी ज्यादा मिला इसलिए इसे अन्य दो की अपेक्षा दीनदयाल जी को आधुनिक कहा जा सकता है। 
भाजपा के मुखपत्र कमल ज्योति द्वारा आयोजित तीन दिन के इस व्याख्यान माला का संचालन कमल ज्योति के प्रबंध संपादक राजकुमार ने किया। व्याख्यान माला में धर्मेन्द्र त्रिपाठी, शैलेन्द्र पांडेय, एडवोकेट परमिंदर सिंह, समीर तिवारी, इन्द्जीत आर्य,राजेश पांडेय, संजय गौड, श्रीकृष्ण दीक्षित, अर्पित पांडेय आशुतोष मिश्रा आदि मौजूद रहे।

  


जर्मनी मे पेंशनर दो वर्षो तक मृत पड़ा रहा;मृत्यु की किसी को भनक तक नही


जर्मनी:  एक एपार्टमेन्ट के घर मे जर्मन पेंशनर दो वर्षो तक मृत पड़ा रहा और इस मृत्यु की किसी को भनक तक नही लगी। यह दुःखद घटना दुईजबर्ग नगर की है।

 वास्तविकता मे क्या हुआ, इस व्यक्ति का न तो कोई मित्र था न ही कोई संबंधी ही जो इसके बारे मे पता लगा सकता। इस व्यक्ति के खाते से मकान का किराया दो वर्षो तक कटता रहा। इस पेशनभोगी की मृत्यु की किसी को खबर नही थी इसलिये यह खाते मे पेंशन प्राप्त करता रहा जिसका एक हिस्सा एपार्टमेन्ट के घर के किराये के  तौर पर कटता रहा।

मकान मालिक ने किराया बढ़ाने के लिये अपने इस किरायेदार को एक पत्र भेजा किन्तु उसे इसका कोई उत्तर नही प्राप्त हुआ। जब मकान मालिक इस व्यक्ति से किराये के सिलसिले मे मिलने गयाए तो किसी ने दरवाजा नही खोला। इससे मकान मालिक सतर्क हो गया और उसने आकष्मिक दरवाजा के लिये सहायता बुलाई।

 इन लोगो ने पेंशनर को एक कंकाल के रूप मे कम्बल के नीचे पाया। जांचकर्ताओं ने इस व्यक्ति की मृत्यु को मई 2015 के आसपास माना है।

मृतक एक अकेला जर्मन था जो इस घर मे रह रहा था, अन्य सभी बुल्गारिया के रहने वाले थे। अन्य किरायेदार 4 से 6 सप्ताह मे अपना आवास बदल देते थे इसी कारण इस व्यक्ति वहां अनुपस्थिति को किसी ने ध्यान नही दिया।