UPBIL/2018/70352

नक्सलियों का शक: 'मुखबिर है', ग्रामीण को मार दी गोली

कोण्डागांव: छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित कोण्डागांव जिले में नक्सलियों का आतंक थम नहीं रहा है। बुधवार की रात नक्सलियों ने एक बार फिर खूनी खेल खेला है। नक्सलियों ने यहां एक ग्रामीण की गोली मार कर हत्या कर दी।
रात के वक्त नक्सलियों के एक समूह ने उसके घर पर धावा बोला और उसे अपने साथ ले गए. बाद में उसे मौत के घाट उतार दिया. नक्सलियों को शक था कि वह पुलिस का मुखबिर है।
पुलिस अधीक्षक आशुतोष सिंह ने घटना की पुष्टि की है। कोंडागांव जिले के पुलिस अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया कि जिले के कोंडागांव थाना क्षेत्र के अंतर्गत खड़पड़ी गांव में नक्सलियों ने बीती रात 35 वर्षीय ग्रामीण जगलु राम नाग को गोली मारकर उसकी हत्या कर दी. वारदात के वक्त वह अपने घर में मौजूद था।
सास-ससुर रोकते रहे और हत्या कर दी गई, दरअसल यह घटना कोण्डागांव के सिटी कोतवाली के मदापज़ल थाना, घोटिया पुलिस चौकी व सिटी कोतवाली के सीमा क्षेत्र की है।
पुलिस के मुताबिक मृतक जंगलूराम नाग (35) खड़पड़ी बोटीचापड़ पारा का रहने वाला था। उसका ससुराल बखरापारा खड़पड़ी में था।
बुधवार को जंगलूराम अपने ससुराल आया था। रात होने पर जब सास-ससुर और दामाद सभी घर के आंगन में सो रहे थे। तभी रात 11ः30 बजे के आसपास 5-6 नक्सली वहां पहुंचे और जंगलूराम के साथ मारपीट करने लगे। जंगलूराम के सांस-ससुर ने नक्सलियों को रोकने की काफी कोशिश की और उनसे दया की भीख मांगी, लेकिन नक्सलियों ने उनकी एक भी न सुनी। तभी इन 5-6 लोगों में से किसी ने जंगलूराम को गोली मार दी। वहीं इस घटना को लेकर ग्रामीणों में खासा रोष है। कुछ ग्रामीणों के अनुसार, जंगलूराम बस्तर जिला के लोहंडीगुड़ा थाना क्षेत्र में पुलिस का मददगार रह चुका है। लेकिन कोण्डागांव जिला गठन के बाद से वह पुलिस के लिए काम करना बंद कर चुका था।
वहीं कुछ ग्रामीणों ने बताया कि जंगलुराम नाग ने कई बार नक्सलियों को राशन और अन्य सामान देने से इंकार कर दिया था. इससे नक्सली राम नाग से नाराज थे और उस पर पुलिस का साथ देने का आरोप लगा दिया।
हालांकि पुलिस ने यह स्पष्ट किया है कि जंगलूराम का पुलिस डिपार्टमेंट से कोई संबंध नहीं था।

 जंगलूराम के भाई का कहना है कि नक्सल कुधूर दलम के हेमलाल, रामू राम अपने 5-6 साथियों के साथ रात में पहले बोटीचापड़ स्थित जंगलू राम के घर आया। यहां उन्हे जंगलू नहीं मिला इसके चलते वे उसके भाई को अपने साथ बखरापारा स्थित जंगलू राम के ससुराल ले गए। यहां नक्सलियों ने घटना को अंजाम दिया। घटना के बाद से पुलिस ने गांव में गश्त तेज कर दी है।
नक्सलियों का शक मुखबिर है ग्रामीण को मार दी गोली

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »