UPBIL/2018/70352

डोनाल्ड ट्रंप फिर विवादों में; रूस को अहम खुफिया जानकारी देने लगा आरोप

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का विवादों से पीछा छूटता नहीं दिख रहा है. अब उन पर रूस को अहम खुफिया जानकारी देने का आरोप लगा है. अमेरिकी अखबार वाशिंगटन पोस्ट ने आरोप लगाया कि पिछले सप्ताह व्हाइट हाउस में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव और रूसी राजदूत से मुलाकात के दौरान उनसे बेहद खुफिया जानकारी साझा की.
अखबार ने मौजूदा और पूर्व अमेरिकी अधिकारियों के हवाले से बताया कि इससे दुनिया के खूंखार आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) की खुफिया जानकारी को जुटाने के अमेरिकी स्रोत को खतरा पैदा हो गया है. हालांकि अमेरिका के विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने इस रिपोर्ट को फौरन खारिज करते हुए कहा कि रूस के साथ ऐसी कोई चर्चा नहीं की गई, जिससे कोई खतरा हो.

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पिछले सप्ताह व्हाइट हाऊस मे रूस के राजदूत व विदेशमंत्री के साथ हुई बैठक के दौरान  एक गुप्त जानकारी उन्हें सौप दी। ट्रंप के इस खुलासे से इस्लामिक स्टेट की जानकारिया हसिल करने वाले गुप्तचरो को खतरा पैदा हो गया है।
जो सूचना राष्ट्रपति द्वारा दी गई वह अमरीकी सहयोगी द्वारा गुप्तचर आदान-प्रदान द्वारा दी गई थी जो अत्यंत संवेदनशील था जिसे मित्र राष्ट्रों को नही दिया जाना था साथ ही अमरीकी सरकार मे भी इसकी जानकारी दिया जाना प्रतिबंधित था, अधिकरिक जानकारी के मुताबिक कहा गया हैं
जानकारी देनेवाले सहयोगी ने अमरीका को रूस से यह जानकारी अदान-प्रदान न करने हेतु अगाह किया था। सूत्र के मुताबिक राष्ट्रपति द्वारा ऐसा करने से अमरीकी सहयोगीयों से गुप्तचर सहायता को खतरा हो गया है जिनकी पंहुच इस्लामिक स्टेट के आन्तरिक कार्य प्रणाली तक थीं
 यह एक प्रकार की कूट शब्दों की सूचना है अधिकारी ने कहा जो इस मामले को जानते है इस विधा का प्रयोग अमरीकी जासूस संस्था अत्यंत गुप्त सूचनाओं के लिये करते हैं। ट्रंप ने सहयोगियो से प्राप्त जानकारी से अधिक सूचानओ का अदान-प्रदान किया है।
यह रहस्योदधाटन उस समय हुआ है जब राष्ट्रपति ट्रंप पर रूस संबंधी कई मोर्चे पर विधिक व राजनेतिक दबाव बढ़ रहा है। राष्ट्रपति ट्रंप के प्रचार का रूस से क्या संबंध है कि जांच कर रहे एफ0बी0 आई निदेशक, जेम्स बी0 कोमी को पिछले सप्ताह बर्खास्त कर दिया गया। इसे न्याय के मध्य बाधा की संज्ञा आलोचको द्वारा कहा जा रहा है।
केमी की बर्खास्तगी के ठीक एक दिन पश्चात, ट्रंप  ने ओवल कार्यालय में रूस के विदेश मंत्री सर्गेइ लवरोव एवं राजदूत सर्गेइ किसलियाक, रूस विवद के मुख्य सूत्रधार का स्वागत किया।
 गुप्त लेख को देखते हुए ट्रंप इस्लामिक स्टेट के आतंकियो द्वारा लैपटॉप कम्प्यूटर का विमान मे प्रयोग से उत्पन्न संभावित खतरे के ब्यौरे पर बताते रहे इस मुलाकात के दौरान। 




Share this

Related Posts

Previous
Next Post »