UPBIL/2018/70352

दो रोजेदारों की गोंडा में निर्मम हत्या

गोंडा। जानकारी के अनुसार पप्पू मिस्त्री और अरमान और एक अन्य मस्जिद से तरावीह पढ़ कर लौट रहे थे। इसी दौरान साहबगंज घोसियाना इलाके में अज्ञात लोगों ने उन पर हमला बोल दिया।

बताया जाता है कि तलवार से हमले के दौरान तीनों की गर्दन पर गंभीर चोटें आई। अस्पताल लाये जाने पर पप्पू मिस्त्री ने दम तोड़ दिया जबकि दोनों की हालत बेहद गंभीर है। वारदात के बाद अस्पताल और घोसियाना में भारी भीड़ सड़क पर उतर आई है। अज्ञात हमलावरों द्वारा वारदात को अंजाम दिये जाने से जबरदस्त तनाव फैल गया है। एसपी उमेश कुमार सिंह और सीओ जिला अस्पताल पहुंच गये हैं। मुख्यमंत्री के दौरे के चंद घंटों बाद हुई वारदात से शहर में सनसनी फैल गई है।

डोनाल्ड ट्रंप फिर विवादों में; रूस को अहम खुफिया जानकारी देने लगा आरोप

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का विवादों से पीछा छूटता नहीं दिख रहा है. अब उन पर रूस को अहम खुफिया जानकारी देने का आरोप लगा है. अमेरिकी अखबार वाशिंगटन पोस्ट ने आरोप लगाया कि पिछले सप्ताह व्हाइट हाउस में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव और रूसी राजदूत से मुलाकात के दौरान उनसे बेहद खुफिया जानकारी साझा की.
अखबार ने मौजूदा और पूर्व अमेरिकी अधिकारियों के हवाले से बताया कि इससे दुनिया के खूंखार आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) की खुफिया जानकारी को जुटाने के अमेरिकी स्रोत को खतरा पैदा हो गया है. हालांकि अमेरिका के विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने इस रिपोर्ट को फौरन खारिज करते हुए कहा कि रूस के साथ ऐसी कोई चर्चा नहीं की गई, जिससे कोई खतरा हो.

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पिछले सप्ताह व्हाइट हाऊस मे रूस के राजदूत व विदेशमंत्री के साथ हुई बैठक के दौरान  एक गुप्त जानकारी उन्हें सौप दी। ट्रंप के इस खुलासे से इस्लामिक स्टेट की जानकारिया हसिल करने वाले गुप्तचरो को खतरा पैदा हो गया है।
जो सूचना राष्ट्रपति द्वारा दी गई वह अमरीकी सहयोगी द्वारा गुप्तचर आदान-प्रदान द्वारा दी गई थी जो अत्यंत संवेदनशील था जिसे मित्र राष्ट्रों को नही दिया जाना था साथ ही अमरीकी सरकार मे भी इसकी जानकारी दिया जाना प्रतिबंधित था, अधिकरिक जानकारी के मुताबिक कहा गया हैं
जानकारी देनेवाले सहयोगी ने अमरीका को रूस से यह जानकारी अदान-प्रदान न करने हेतु अगाह किया था। सूत्र के मुताबिक राष्ट्रपति द्वारा ऐसा करने से अमरीकी सहयोगीयों से गुप्तचर सहायता को खतरा हो गया है जिनकी पंहुच इस्लामिक स्टेट के आन्तरिक कार्य प्रणाली तक थीं
 यह एक प्रकार की कूट शब्दों की सूचना है अधिकारी ने कहा जो इस मामले को जानते है इस विधा का प्रयोग अमरीकी जासूस संस्था अत्यंत गुप्त सूचनाओं के लिये करते हैं। ट्रंप ने सहयोगियो से प्राप्त जानकारी से अधिक सूचानओ का अदान-प्रदान किया है।
यह रहस्योदधाटन उस समय हुआ है जब राष्ट्रपति ट्रंप पर रूस संबंधी कई मोर्चे पर विधिक व राजनेतिक दबाव बढ़ रहा है। राष्ट्रपति ट्रंप के प्रचार का रूस से क्या संबंध है कि जांच कर रहे एफ0बी0 आई निदेशक, जेम्स बी0 कोमी को पिछले सप्ताह बर्खास्त कर दिया गया। इसे न्याय के मध्य बाधा की संज्ञा आलोचको द्वारा कहा जा रहा है।
केमी की बर्खास्तगी के ठीक एक दिन पश्चात, ट्रंप  ने ओवल कार्यालय में रूस के विदेश मंत्री सर्गेइ लवरोव एवं राजदूत सर्गेइ किसलियाक, रूस विवद के मुख्य सूत्रधार का स्वागत किया।
 गुप्त लेख को देखते हुए ट्रंप इस्लामिक स्टेट के आतंकियो द्वारा लैपटॉप कम्प्यूटर का विमान मे प्रयोग से उत्पन्न संभावित खतरे के ब्यौरे पर बताते रहे इस मुलाकात के दौरान। 




भीषण गर्मी में पेयजल आपूर्ति ठप ;लखनऊ त्रिवेणी नगर के लोग परेशान

सूर्यान्श शुक्ला 
लखनऊ उत्तर प्रदेश की राजधानी है किन्तु यहां पर विकास के लिए  कहां से वोट मिला है कहां से नही इस बात पर पार्षद घ्यान देता है। नीरज बोरा लखनऊ उत्तरी के विधायक हैं   मुन्ना मिश्रा की पत्नी श्रीमती अनुराधा  त्रिवेणी नगर क्षेत्र की पार्सद  हैं। यह क्षेत्र सीतापुर रोड के दोनो किनारे पर बसा हुआ है। सीतापुर रोड के पूर्वी किनारे पर त्रिवेणी नगर द्वितीय एवं पश्चिमी किनारे पर त्रिवेणी नगर तृतीय कालोनी बसी हुई है।  बलेन्दु धर त्रिपाठी बताते है कि इलाके मे ट्यूबवेल त्रिवेणी नगर तृतीय  मे स्थापित है। जिसका तल द्वितीय कालोनी से काफी नीचे है और पानी सप्लाई खोले जाने पर तल नीचे होने के करण पेयजल मात्र 10 मिनट सुबह एवं 10 मिनट शाम को मिल पाता है।
 कालोनी के विकास के संबंध मे पूछे जाने पर (नाम न खोले जाने की शर्त पर) एक व्यक्ति ने बताया की मुन्ना मिश्रा वर्तमान पार्षद के पति कालोनी वासियो से नाराज हैं इसलिये इधर की कालोनी के  विकास कार्य को  उपेक्षित किया  गया  है। कुछ कार्य यहां पर कराया गया था किन्तु पार्षद के कार्य का शिलालेख किसी ने रा़त्रि  के समय तोड दिया वोह तभी से नाराज हैं एवं इस संबंध मे कई बार कालोनी वासी उनसे मिल चुके हैं। स्ट्रीट लाईट उनके द्वारा लगवाई गयी हैं
यहां यह बताते चलें कि पेयजल पाईप जब डाला जा रहा था मार्ग मे पाईप लाईन कुछ लोगो की मिलीभगत से कुछ ही दूरी तक डाली गई। जब प्रेसमैन के कार्यालय का निर्माण कार्य प्रारम्भ हुआ तो कनेक्शन 30 मीटर मार्ग खोदकर कराया  गया। एक मिनी ट्यूबवेल अधिष्ठापन हेतु लखनऊ के मेयर दिनेश शर्मा से लोग  मिले तो उन्होने यह व्यवस्था अगले वित्त कराने हेतु  आदेश कर दिया किन्तु अभीतक जल संस्थान जोन-3  ने इस दिशा मे कोई कार्य नही किया।
 अभीतक त्रिवेणी नगर के योगी नगर  मंदिर के पास का ट्यूबवेल पिछले 15 दिनों से खराब है। पानी की बूंद की भी आपूर्ति बंद है। इस भीषण गर्मी मे बिना पेयजल लोगों का कैसे गुजारा हो रहा है एक विचारणीय विषय है किन्तु जनसमस्याओं पर विचार भी वतानुकूलित वातावरण मे होता है इसलिये इस समस्या पर अभीतक कोई  ठोस निर्णय नही हो सका। महाप्रबंधक जल संस्थान को दूरभाष पर प्रयास किया गया तो उनका अधिकारिक मोबाईल उनके स्टाफ द्वारा उठाया गया और पूछे जाने पर उनके व्यक्तिगत नम्बर की जानकारी से अनभिज्ञता जाहिर की गई। 

एक और प्रेम कहानी नई तर्ज पर पेश करने की कोशिश:मिर्जा जूलियट


फिल्म : मिर्जा जूलियट 
डायरेक्टर: राजेश राम सिंह 
स्टार कास्ट: पिया बाजपेयी, दर्शन कुमार, चंदन रॉय सान्याल, प्रियांशु चटर्जी
अवधि: 2.05 घंटे 
सर्टिफिकेट: A
रेटिंग: 2.5 स्टार
हीर-रांझा, रोमियो-जूलियट और लैला-मजनू की कहानियों को लेकर कई फिल्में बनाई गई हैं. इसी तरह की प्रेम कहानी को नए अंदाज में डायरेक्टर राजेश राम सिंह ने पेश किया है.  
यह कहानी इलाहाबाद के धर्मराज शुक्ला (प्रियांशु चटर्जी) की बहन जूली शुक्ला (पिया बाजपेयी) और मिर्जा (दर्शन कुमार) की है. जूली बचपन से ही भाइयों का लाड-प्यार में पली है. वह निडर है और आसपास के लोगों को भी ऐसा बनने की सीख देती है.
जूली की शादी शहर के दबंग के बेटे राजन (चंदन रॉय सान्याल) से फिक्स होती है जो उसके साथ शादी से पहले ही संबंध बनाने की कोशिश करता है. कहानी में ट्विस्ट और टर्न्स तब आते हैं जब मिर्जा और जूलियट के बीच प्यार होता है. इस बीच कहानी इलाहाबाद से नेपाल तक भी जाती है. 
फिल्म में एक्ट्रेस पिया बाजपेयी ने सहज अभिनय किया है. इससे एक खास एटीट्यूड उनके किरदार में दिखाई देता है. वहीं दर्शन कुमार और चंदन रॉय सान्याल का काम भी अच्छा है. एक्टर प्रियांशु चटर्जी को एक अलग अवतार में देखना सरप्राइज फैक्टर है.
डायरेक्टर राजेश राम सिंह ने फिल्म पर पकड़ बनाकर रखी है और इसे शूट भी अच्छी लोकेशंस पर की है. फिल्म का बैकग्राउंड स्कोर भी इसमें जान डालता है. ट्रीटमेंट और कॉन्सेप्ट के हिसाब से फिल्म को नॉर्थ बेल्ट में ज्यादा पसंद किया जा सकता है. 
फिल्म की कमजोर कड़ी इसकी घि‍सी-पिटी कहानी है जो सदियों से चली आ रही है. और हाल ही में कुछ ऐसी ही कहानी 'मिर्ज्या' फिल्म में भी राकेश ओमप्रकाश मेहरा ने दिखाने की कोशिश की थी. वैसे इस फिल्म का प्लॉट और बेहतर हो सकता था.
फिल्म की लेंथ हालांकि 2 घंटे के करीब की है लेकिन एडि‍टिंग सही न होने के चलते यह खिंची हुई लगती है. वहीं धार्मिक दंगों वाले सीन भी ताल में नहीं लगते. 
फिल्म का बजट कम ही है और उत्तर प्रदेश में शूट किए जाने के कारण सब्सिडी भी शायद अच्छी मिले. वहीं डिजिटल और सैटेलाइट राइट्स के साथ फिल्म की कॉस्ट रिकवरी की उम्मीद काफी है.



नक्सलियों का शक: 'मुखबिर है', ग्रामीण को मार दी गोली

कोण्डागांव: छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित कोण्डागांव जिले में नक्सलियों का आतंक थम नहीं रहा है। बुधवार की रात नक्सलियों ने एक बार फिर खूनी खेल खेला है। नक्सलियों ने यहां एक ग्रामीण की गोली मार कर हत्या कर दी।
रात के वक्त नक्सलियों के एक समूह ने उसके घर पर धावा बोला और उसे अपने साथ ले गए. बाद में उसे मौत के घाट उतार दिया. नक्सलियों को शक था कि वह पुलिस का मुखबिर है।
पुलिस अधीक्षक आशुतोष सिंह ने घटना की पुष्टि की है। कोंडागांव जिले के पुलिस अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया कि जिले के कोंडागांव थाना क्षेत्र के अंतर्गत खड़पड़ी गांव में नक्सलियों ने बीती रात 35 वर्षीय ग्रामीण जगलु राम नाग को गोली मारकर उसकी हत्या कर दी. वारदात के वक्त वह अपने घर में मौजूद था।
सास-ससुर रोकते रहे और हत्या कर दी गई, दरअसल यह घटना कोण्डागांव के सिटी कोतवाली के मदापज़ल थाना, घोटिया पुलिस चौकी व सिटी कोतवाली के सीमा क्षेत्र की है।
पुलिस के मुताबिक मृतक जंगलूराम नाग (35) खड़पड़ी बोटीचापड़ पारा का रहने वाला था। उसका ससुराल बखरापारा खड़पड़ी में था।
बुधवार को जंगलूराम अपने ससुराल आया था। रात होने पर जब सास-ससुर और दामाद सभी घर के आंगन में सो रहे थे। तभी रात 11ः30 बजे के आसपास 5-6 नक्सली वहां पहुंचे और जंगलूराम के साथ मारपीट करने लगे। जंगलूराम के सांस-ससुर ने नक्सलियों को रोकने की काफी कोशिश की और उनसे दया की भीख मांगी, लेकिन नक्सलियों ने उनकी एक भी न सुनी। तभी इन 5-6 लोगों में से किसी ने जंगलूराम को गोली मार दी। वहीं इस घटना को लेकर ग्रामीणों में खासा रोष है। कुछ ग्रामीणों के अनुसार, जंगलूराम बस्तर जिला के लोहंडीगुड़ा थाना क्षेत्र में पुलिस का मददगार रह चुका है। लेकिन कोण्डागांव जिला गठन के बाद से वह पुलिस के लिए काम करना बंद कर चुका था।
वहीं कुछ ग्रामीणों ने बताया कि जंगलुराम नाग ने कई बार नक्सलियों को राशन और अन्य सामान देने से इंकार कर दिया था. इससे नक्सली राम नाग से नाराज थे और उस पर पुलिस का साथ देने का आरोप लगा दिया।
हालांकि पुलिस ने यह स्पष्ट किया है कि जंगलूराम का पुलिस डिपार्टमेंट से कोई संबंध नहीं था।

 जंगलूराम के भाई का कहना है कि नक्सल कुधूर दलम के हेमलाल, रामू राम अपने 5-6 साथियों के साथ रात में पहले बोटीचापड़ स्थित जंगलू राम के घर आया। यहां उन्हे जंगलू नहीं मिला इसके चलते वे उसके भाई को अपने साथ बखरापारा स्थित जंगलू राम के ससुराल ले गए। यहां नक्सलियों ने घटना को अंजाम दिया। घटना के बाद से पुलिस ने गांव में गश्त तेज कर दी है।
नक्सलियों का शक मुखबिर है ग्रामीण को मार दी गोली